Keywords: The Foundation of SEO

Keywords: The Foundation of SEO

Keywords: The Foundation of SEO शीर्षक से ही आपको समझ आ गया होगा की SEO के लिए keywords कितने महत्वपूर्ण होते हैं। लेकिन अभी शायद आपको यह ही नहीं पता की Keywords क्या होते है।

Keyword क्या है?

सर्च इंजन में जब भी हम कुछ ढूनना चाहते हैं तो सर्च इंजन के सर्च बॉक्स में कुछ query string टाइप करते हैं, यही query string ही keywords कहलाते हैं। जैसे मान लीजिये आपको सर्च करना है “ATM IN BARABANKI” तो आप सर्च बॉक्स यही string डालेंगे और आपको इसके अनुसार रिज़ल्ट मिल जाएगा। तो इस सर्च के लिए “ATM IN BARABANKI” keyword है। आज इस पोस्ट के माध्यम से हम जानेंगे –

  1. Keyword रिसर्च प्लान की जरूरत
  2. Keyword रिसर्च कैसे करें?
  3. Keyword रिसर्च टूल्स
  4. Keywords Attributes
  5. Keywords Distribution
  6. Ongoing Keyword Evaluation

1. Keyword रिसर्च प्लान की जरूरत

अपनी वैबसाइट को optimize करने से पहले आपको यह पता होना चाइए की आप अपनी वैबसाइट किसके लिए Optimize करने जा रहे हैं। अपनी वैबसाइट के लिए सही keyword का पता लगाना बहुत ही चुनौतीपूर्ण कार्य है। क्योकि इंटरनेट पर बहुत सा डाटा उपलब्ध है और हम एक व्यवस्थित approach का प्रयोग अपनी वैबसाइट के लिए keywords दूनने के लिए कर सकते हैं।

सर्च इंजन पर दुनिया भर में करोड़ो लोग हर सेकंड कुछ न कुछ सर्च किया करते हैं और वो जो भी सर्च इंजन में लिख कर सर्च करते हैं वो ही keywords है। अगर हम यह जान ले की लोग किस तरह के keywords को ज्यादा सर्च करते हैं तो हम उसी के अनुसार अपनी वैबसाइट को optimize कर सकते हैं। पर यह इतना आसान नहीं है।

अपनी वैबसाइट के लिए सही keyword का पता लगाने के लिए आपको keyword रिसर्च करना पड़ेगा इसके लिए आपको इन बिन्दुओं पर ध्यान रखना चाहिए –

a. Frequency

सबसे पहले आपको यह पता लगाना पड़ेगा की आप जिस keyword के अनुसार अपनी वैबसाइट optimize करना चाहते है वह सर्च इंजन पर कितनी बार खोजा जा रहा है। क्योकि अगर आपके द्वारा चुना हुआ keyword बहुत ज्यादा खोजा जा रहा है तो आप अपनी वैबसाइट को उसके अनुसार optimize करके सफलता प्राप्त कर सकते हैं, किन्तु अगर वो ज्यादा लिगोन द्वारा नहीं खोजा जा रहा है तो आपको दूसरा keyword ढूनना होगा अपनी वैबसाइट optimize करने के लिए.

b. Relevance

Frequency के बाद आपको यह पता करना है की वह keyword आपकी वैबसाइट के अनुसार relevant है या नहीं अगर वो relevant है तब तो आप अपनी वैबसाइट को अपने केयवोर्ड के अनुसार optimize करिए अन्यथा आप कोई दूसरा keyword ढून लीजिये।

c. Competition

Keyword Relevancy चेक करने के बाद आपको यह पता करना चाहिए की आपके द्वारा चुने keyword का competition कितना है। Competition से मतलब यह है की और कितनी वैबसाइट हैं जो इस keyword पर अपनी वैबसाइट को optimize किए हुये हैं अगर यह संख्या ज्यादा है तो आपको बहुत जादा मेहनत करनी होगी अपनी वैबसाइट optimize करने में अन्यथा आप आसानी से अपनी वैबसाइट optimize कर सकते हैं।

Keyword रिसर्च को हम एक उदाहरण से समझ सकते हैं जैसे आप अगर bike keyword पर रिसर्च करते हैं और आपको कुछ नीचे इमेज के अनुसार रिज़ल्ट मिलता है –

Keywords: The Foundation of SEO
Keywords: The Foundation of SEO

इस सर्च मेन आप देखते है की bike keyword का search volume तो बहुत अच्छा है पर यह ज्यादा Relevant नहीं है और इसका competition भी बहुत हाई है तो हम इस keyword के अनुसार अपनी वैबसाइट को optimize नहीं करेंगे क्योकि अगर हम इस keyword के अनुसार optimize करते हैं तो search इंजन  हमारी वैबसाइट को प्राथमिकता नहीं देगा और हमारी वैबसाइट कभी सर्च इंजन के सर्च result मेन नहीं आ पाएगी।

इसके बजाए अगर हम keyword “Bye new blue TVS Apache” की रिसर्च करें और हमे नीचे दिया गया रिज़ल्ट प्राप्त हो तो –

Keywords: The Foundation of SEO
Keywords: The Foundation of SEO

हम पाएंगे की इसका सर्च volume तो कम है पर यह हमारी वैबसाइट से बहुत relevant है और इसका compatition भी बहुत कम है तो हम अगर इस keyword के अनुसार अपनी वैबसाइट को optimize करते है तो हमे बहुत अच्छे रिज़ल्ट प्राप्त हो सकते हैं।

अब दोस्तों मुझे लगता है की आपको यह समझ आ गया होगा की keywords और keywords रिसर्च क्या होती है। तो अब हम समझेंगे की keyword प्लानिंग के बारे में। एक affective keyword प्लानिंग हमें एक मजबूत और व्यवस्थित approch प्रदान करती है अपनी वैबसाइट को optimize करने के लिए। प्लानिंग से आपको यह पता चल जाता है की आपको अपनी वैबसाइट पर कौन सा keyword प्रयोग करना चाहिए और अपने content में उसे कैसे प्रयोग करना चाहिए जिससे आप अधिक से अधिक लाभ उठा सकें।

2. Keyword रिसर्च कैसे करें?

लोग अपने अनुसार keyword रिसर्च के लिए अपने अलग अलग तरीके प्रयोग करते हैं। लेकिन Keyword रिसर्च के लिए जो बहुत महत्वपूर्ण चीज़ है वो यह है की आप अपनी वैबसाइट और अपने बिज़नस को भूलकर अपने ग्राहक पर ध्यान दे की वो क्या चाहता है और वो इंटरनेट पर क्या ढून रहा है या अक्सर ढूनता है। इससे आपको अपने लिए अच्छे keyword मिल सकते हैं। जो आपके बिज़नस को लाभ पहुचा सकते हैं।

Keyword रिसर्च के लिए आपको जो पहली चीज़ आपको करनी चाइए वो है बुद्धिशीलता (Brainstorming), इसमें आपको अपने आप से कुछ प्रश्न पूछने चाहिए जैसे –

A. Brainstorming –

प्रश्न : आप अपनी वैबसाइट के माध्यम से कौन सा प्रॉडक्ट या सर्विस ऑफर कर रहे हैं?

अब इसके अनुसार आप बहुत से keywords और वाक्यांशों (Phrases) की लिस्ट बनाइये और उनको छाट लीजिये जो आपके ग्राहक के अनुसार महत्वपूर्ण हो या उसके द्वारा खोजे जा रहे हों।

एक बार आप keyword की लिस्ट बना लें फिर आपको उसकी analysis करनी चाहिए। keyword analysis के लिए इंटरनेट पर दो सबसे अच्छी वैबसाइट उपलब्ध है पहली है Google Trends जिसकी वैबसाइट यह है https://trends.google.com/trends/ और दूसरी है Answer the Public जिसकी वैबसाइट है – https://answerthepublic.com/?via=avinash इन वैबसाइट पर जाकर आप अपने keyword से मिलते जुलते और भी keyword खोज सकते हैं जो आपके ग्राहक वैबसाइट पर ढूनते हैं। Answer The Public एक ऐसी वैबसाइट है जो आपको बहुत सारे keywords ideas दे सकती है। अगर आप इसका Pro version लेते है, जो केवल $99 प्रति महीने में आपको मिल जाता है, तो आप इससे बहुत अधिक लाभ उठा सकते हैं।

जैसे मान लीजिये आप Answer the public में  कोई keyword ‘bike’ सर्च करते हैं तो यह आपको कुछ ऐसे रिज़ल्ट देता है –

Keywords: The Foundation of SEO
Keywords: The Foundation of SEO

इस प्रकार आप अपनी वैबसाइट के लिए बहुत सारे keyword खोज सकते हैं।

अब एक बार आप अपने keywords की लिस्ट तैयार कर ली हो तो अब आपको यह पता करना होगा की आप द्वारा चुना गया कौन सा keyword सर्च इंजन में कितनी बार खोजा जा रहा है, दूसरे शब्दों में कहें तो Keyword का सर्च volume क्या है।

B. Search Volume:

Keyword की लिस्ट लाइयर करने के बाद यह बहुत जरूरी है की आप के चुने गए keywords का सर्च इंजिन पर सर्च volume क्या है क्योकि अगर keywords का सर्च volume कम है तो वैबसाइट keyword के अनुसार optimize होने के बावजूद भी आपको कोई फायदा नहीं होगा क्योकि लोग उसे ज्यादा सर्च ही नहीं करते। सर्च volume से आपको यह पता चलता है की कुन सा keyword user के द्वारा कितना सर्च इंजन पर खोजा जा रहा है। तो अब आप उन keywords की लिस्ट अलग बना लीजिए जिनका सर्च volume अधिक है। इन keywords में आपको अब यह देखना है और एक अलग लिस्ट बना लेनी है जो Long Tail Keywords हैं। क्योकि Long Tail Keyword सर्च इंजन में ज्यादा सर्च किए जाते हैं। SEO में Long Tail Keyword बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

Long Tail Keywords को एक उदाहरण से समझने का प्रयास करते हैं जैसे अगर हम सर्च इंजन पर “Case “सर्च करें तो हम पाएंगे की इसका सर्च volume तो बहुत ज्यादा है और competition भी बहुत ज्यादा है। इसके बाद अगर हम सर्च करें “IPhone cases” तो हम पाएंगे की इसका सर्च volume तो कम है पर competition भी कम है। इस दोनों ही keyword के लिए हमे अपनी वैबसाइट सर्च engine पर rank करनी बहुत कठिन होगा क्योकि इन दोनों keywords का competition बहुत ज्यादा है। लेकिन अगर हम “Protective Blue iPhone Cases” keyword का search volume देखें तो यह ऊपर के दोनों keywords से तो कम है पर इसमें competition बहुत कम है तो इस keyword पर हम अपनी वैबसाइट आसानी से rank करा सकते हैं।

Keywords: The Foundation of SEO
Keywords: The Foundation of SEO

c. Keyword Categorization:

Search Volume के बाद बारी आती है Keyword Categorization की इसमें आपको चाहिए की आप अलग अलग keyword का एक category बना लीजिये जैसे अगर हम iPhone मोबाइल के case फोन के बारे मेन बात कर रहे हैं तो इसकी एक category इसके रंग के अनुसार बना सकते हैं जैसे लाल रंग का मोबाइल केस, पीले रंग का मोबाइल केस आदि, एक iPhone version के अनुसार जैसे iPhone 4, iPhone5, iPhone 5 आदि। keyword की कैटेगरी बनाना ही Keyword Categorization कहलाता है।

1. Keyword रिसर्च टूल्स

आइए अब हम समझते हैं की keyword research के बेसिक क्या होते हैं। इसके लिए यहाँ पर हम कुछ टूल्स के बारे में बात करेंगे जिनकी मदद से हम बहुत आसानी से अच्छे keywords रिसर्च कर सकते हैं। इंटरनेट पर बहुत से टूल्स उपलब्ध हैं जो की paid टूल्स हैं लेकिन मैं यहाँ पर आपको एक फ्री टूल suggest करूंगा वो है Keyword Finder. इस टूल की मदद से आप अलग अलग टॉपिक पर अपनी जरूरत के अनुसार keyword रिसर्च कर सकते हैं। यहाँ पर मै विस्तार से आपको इस टूल का प्रयोग बताने जा रहा हूँ। इस टूल को प्रयोग करने के लिए आपको सबसे पहले इसकी वैबसाइट https://keywordfinder.io/ पर जाना होगा।

Keywords: The Foundation of SEO
Keywords: The Foundation of SEO

जब आप Keyword Finder टूल को खोलते हैं तो आपको एक textbox मिलता है जहां लिखा होता है “Enter up to 10 keywords here…”. इस textbox में आपको अपना कोई Keyword डालना है और Find Keyword पर क्लिक करना है और आप पाएंगे की आपके सामने ढेरों keywords suggestion आ जाएंगे।

उदाहरण के लिए मान लीजिये आपको “Search Engine Optimization” keyword पर रिसर्च करनी है तो आप textbox में  “Search Engine Optimization” डालेंगे जिससे आपको कुछ ऐसा रिज़ल्ट देखने को मिलेगा  –

Keywords: The Foundation of SEO
Keywords: The Foundation of SEO

इस पिक्चर में आप देख पा रहें की की सबसे टॉप पर हरे रंग से यह लिखा है कि “Search Engine Optimization” से संबन्धित 552 रिज़ल्ट मिले हैं जिसमें से आप तीन result देख पा रहे हैं जो हैं क्रमशः “search engine optimization”, “search engine optimization nedir”,” e-commerce search engine optimization”। Keyword के अगले कॉलम में आपको मिलेगा Monthly Volume का column जहां पर आपको यह पता चलेगा की यह keyword एक महीने में कितनी बार सर्च किया जा रहा है।

फिर आपको मिलता है Adwords CPC का column जिससे आपको पता चलता है की आपको इस keyword पर एक क्लिक से कितना पैसा मिलेगा और इसके बाद आपको Adwords Comp column का ऑप्शन मिलता है जिससे आपको यह पता चलता है की अगर आप इस keyword पर कोई article लिखते हैं तो आपको optimize करने में आपको कितनी difficulty होगी।

सामान्यतः लोग उन Keyword को optimize करने के लिए उपयोग करते हैं जिनकी difficulty 0.15 से कम होती है क्योकि इन difficulty level के keywords के article को ओपतीमिजे करना बहुत आसान होता है।

Adwords Comp के बाद आता है Volume Trend का ऑप्शन जिसकी मदद से आप यह जान सकते हैं की पिछले 12 महीने में इस keyword का सर्च रेट क्या रहा है।

दोस्तों इन सभी parameters की मदद से आप एक अच्छा keyword रिसर्च करके चुन सकते हैं और अपना आर्टिक्ल लिख सकते हैं और optimize भी आसानी से कर सकते हैं।

4. Keywords Attributes

सर्च इंजन में बहुत से keyword की इन्फॉर्मेशन उपलब्ध है। लेकिन आपके लिए कौन सा keyword अच्छा रहेगा यह जानने के लिए आपको keyword attributes के बारे में पूरी जानकारी होनिओ अति आवश्यक हो जाती है।

की वर्ड को चुनने के लिए तीन मुख्य चीजों का ध्यान रहना पड़ता है और वो हैं –

  • Relevance
  • Search Volume
  • Competition

इन तीनों चीजों पर आप रिसर्च ऊपर बताए गए रिसर्च टूल की मदद से आसानी से कर सकते हैं।

5. Keywords Distribution

Keyword distribution एक ऐसा प्रोसैस है जिसमें आप कुछ specific keywords को अपने वेब पेज को assign करते हैं। यह content creation का एक बहुत ही महत्वपूर्ण भाग होता है। क्योकि जब आप कोई भी content compose कर रहे होते हैं तो आपको यह पता होना चाहिए की किस keyword के लिए आप यह content तैयार कर रहे हैं। अपने पेज पर keyword का आपको जहां जहां पर प्रोयोग करना होता है वो स्थान कुछ इस प्रकार हैं –

i. URL में –

आपके पेज का जो भी URL हो उसमें उस पेज पर उसे हुआ keyword अवश्य आना चाहिए।

ii. Title में –

Keyword आपके पेज के title में भी होना बहुत जरूरी है। अतः आप यह हमेशा ध्यान रखें की आपके पेज के title में पेज का keyword उसे हुआ है या नहीं। पेज का title बनाते समय आपको यह नही भ्यान रखना है की वो 65 characters से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

iii. Meta Description –

पेज title के बाद बारी आती है meta description की।  आपके प्रतेक webpage का एक Meta Description होना अनिवार्य है क्योकि यह ही वो भाग है जो Search Engine Optimization में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। Meta Description में 156 characters से ज्यादा characters ना हों यह ध्यान रखें और इसमें भी आपका keyword का आना अनिवार्य है।

जाने SEO क्या है?

iv. H1 tag

आपके वेब पेज में कम से कम एक h1 tag होना अनिवार्य है और कोशिश करें की वो पेज की पहली और में heading हो तो अच्छा है। और इस heading में भी आपका keyword का होना अनिवार्य है।

6. Ongoing Keyword Evaluation

यह एक जटिल प्रक्रिया है लंबे समय तक सर्च engine के सर्च रिज़ल्ट में बने रहने के लिए लिकिन बहुत महत्वपूर्ण भी। यह keyword research का आखरी चरण है जिससे आप अपनी वैबसाइट को अच्छी तरह से optimize कर सकते हैं। एक बार जब आप अपनी वैबसाइट optimize कर लेते हैं और traffic आपकी website पर आने लगता है तो आपको यह चेक करना चाइए की वो कौन कौन से keywords है जिनसे traffic हमारी वैबसाइट पर आता है और अगर वो keyword आपके पेज के keyword से अलग हैं तो आपको चाइए की आप अपने पेज को उन keyword के अनुसार optimize करें जिससे आपको ज्यादा ट्रेफिक आ रहा है। यह प्रक्रिया आपको लगातार करनी चाहिए क्योकि लोगों का सर्च करने का तरीका और लोग भी इंटरनेट पर रोज बदलते रहते हैं।

तो दोस्तों मुझे पूरी यकीन है की आपको यह पोस्ट अच्छा लगा होगा। इस पोस्ट से संबन्धित अगर आपके मन में कोई प्रश्न यह सुझाव हो तो आप मुझे मेरी मेल ID praveen171086@gmail.com पर मेल या नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

वंदे मातरम।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *